W3C तत्काल प्रकाशन के लिए

डब्ल्यू3सी वेब कंटेंट अभिगम्यता गाईडलाइन 2.0 आईएसओ/ आईईसी अंतर्राष्ट्रीय मानक के रूप में स्वीकृत



15 अक्टूबर 2012 - आज वर्ल्ड वाईड वेब कन्सॉर्शीअम (डब्ल्यू3सी) और मानकीकरण के अंतरराष्ट्रीय संघ (ISO) के संयुक्त तकनीकी समिति (Joint Technical Committee) JTC 1,सूचना प्रौद्योगिकी एवं अंतर्राष्ट्रीय विद्युततकनीकी आयोग (International Electro technical Commission, IEC) ने वेब कंटेंट अभिगम्यता गाइडलाइन (WCAG) 2.0 आईएसओ/ आईईसी अंतर्राष्ट्रीय मानक के रूप में स्वीकृति की घोषणा की है (ISO/IEC 40500:2012)।

"यह महत्वपूर्ण अभिगम्यता मानक, जो पहले से ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर व्यापक रुप से फैला हुआ है, अब आईएसओ/आईईसी राष्ट्रीय निकायों से अतिरिक्त औपचारिक मान्यता से लाभ प्राप्त कर सकते हैं" डब्ल्यू3सी के सीइओ जेफ जफे ने कहा। "ऐसी मान्यता से सरकार, व्यवसाय और व्यापक वेब समुदाय द्वारा WCAG 2.0 के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सामंजस्य बढ़ाने की संभावना होती है।"

कैरेन हिगिनबॉटम, ISO/IEC JTC 1 के अध्यक्ष ने कहा "ISO/IEC JTC 1 को डब्ल्यू3सी के इस महत्वपूर्ण अभिगम्यता मानकों को प्रस्तुत करते हुए काफी खुशी हो रही है यदि हाल के वर्षों में JTC 1 राष्ट्रीय संस्थाओं के बीच अभिगम्यता में रुचि बढ़ी हो"।"हम यह भी आशा करते हैं कि ISO/IEC मान्यता WCAG 2.0 के आस पास अधिक अभिसरण को प्रोत्साहित करेगा और आगे सहायक उपकरण एवं सॉफ्टवेयर के विकास को बढ़ावा देगा"।

अभिगम्यता मानकों के अंतरराष्ट्रीय सामंजस्य से सभी को लाभ पहुँचाता है

WCAG 2.0 कई सरकारों एवं संगठनों द्वारा अपनाया गया है अथवा संदर्भित हुआ है। विकलांग व्यक्तियों के अधिकारों पर संयुक्त राष्ट्र संधिपत्र , के पारित होने के बाद, बढ़ती हुई संख्या में देशों ने विकलांग व्यक्तियों तक अपने सूचना प्रौद्योगिकी के पहुँच के लिए अपने संधि की प्रतिबद्धताओं को संबोधित करने के लिए समाधान की मांग की है।

डब्ल्यू3सी में वेब अभिगम्यता पहल के निदेशक जूडी ब्रेवर ने कहा कि "ISO/IEC की आज्ञा डब्ल्यू3सी प्रौद्योगिकी और दिशानिर्देशों को अपनाने के अवसर बढ़ा देते हैं"। "कुछ देशों में यह नीति होती है कि राष्ट्र द्वारा अपनाई गई तकनीकि मानकें ISO/IEC होने चाहिए। WCAG 2.0 के JTC 1 की औपचारिक स्वीकृति परिनियोजन को बढ़ाएगी, विखंडन कम करेगी और सभी उपयोगकर्ताओं को वेब पर अधिक से अधिक अंतरसंक्रीयता प्रदान कराएगी।"

अक्टूबर 2011 में WCAG 2.0 पहली बार ISO/IEC JTC 1 में सार्वजनिक रूप से उपलब्ध निर्दिष्टीकरण के लिए प्रस्तुत किया गया। नवम्बर 2010 से डबल्यू3सी एक अनुमोदित JTC 1 PAS सबमिटर/अनुच्छेद है और यह उन 9 संस्थानों में से एक है जो अभी अनुमोदित हैं। डब्ल्यू3सी और ISO/IEC JTC1 PAS सबमिशन प्रक्रिया के विषय में अधिक जानकारी के लिए W3C PAS FAQ एवं JTC 1 की वेबसाइट देखें।

WCAG 2.0 व्यापक सहायक संसाधनो वाला एक स्थिर मानक है

ISO/IEC JTC 1 मानक की तरह, WCAG 2.0 अब ISO/IEC से उपलब्ध है, while it remains a stable , जबकि यह व्यापक सहायक संसाधनों के साथ एक अंतरराष्ट्रीय डब्ल्यू3सी मानक बनी हुई है। JTC 1 ना तो बदलती है और ना ही मौजूदा मानक की जगह लेती है, जो WCAG 2.0 के डब्ल्यू3सी अधिकृत कई अनुवाद को साथ डब्ल्यू3सी वेबसाइट पर स्वतंत्र रुप से उपलब्ध होते हैं।.

प्रबंधकों, विकासक एवं नीति निर्धारकों, WCAG 2.0 मानकों के साथ, WCAG 2.0 समीक्षा सहित, एक नज़र में WCAG 2.0, WCAG 2.0 को कैसे पूरा करें: एक अनुकूलन योग्य त्वरित संदर्भ, WCAG 2.0 के लिए तकनीकियां, और WCAG 2.0 को समझने के लिए डब्ल्यू3सी कई सहायक संसाधन अपलब्ध कराता है।.

वर्ल्ड वाइड वेब कन्सॉर्शीअम के विषय में

वर्ल्ड वाइड वेब कन्सॉर्शीअम (डब्ल्यू3सी) एक अंतरराष्ट्रीय संघ है जहां सदस्य संगठन, पूर्ण कालिक कर्मचारी और जनता वेब मानकों के निर्माण के लिए एक साथ कार्य करती है। डब्ल्यू3सी अपना मिशन मुख्य रुप से वेब मानकों के निर्माण और दिशानिर्देश जो वेब के दीर्घ कालिक विकास को निश्चित करता है, द्वारा चलाता है। 375 से अधिक संगठन इस कन्सॉर्शीअम के सदस्य हैं। डब्ल्यू3सी संयुक्त रुप से MIT Computer Science and Artificial Intelligence Laboratory (MIT CSAIL) USA में,European Research Consortium for Informatics and Mathematics (ERCIM) फ्रांस में और जापान में Keio University द्वारा संचालित होता है और इसके विश्व भर में अतिरिक्त कार्यालय हैं। अधिक जानकारी के लिए http://www.w3.org/देखें।

वेब अभिगम्यता पहल के विषय में

डब्ल्यू3सी की वेब अभिगम्यता पहल (WAI) दुनिया भर के संगठनों के साथ मिलकर वेब को विकलांग एवं वृद्ध उपयोगकर्ताओं के लिए अधिक से अधिक सुलभ बनाने के लिए कार्य कर रहा है। WAI वेब अभिगम्यता की पहल को यह सुनिश्चित करने के लिए जारी रखा की वेब प्रौद्योगिकियां अभिगम्यता का समर्थन कर सके; वेब कंटेंट के दिशानिर्देशों का विकास, ब्राउज़र एवं मिडिया प्लेयर, और संलेखन उपकरण; बेहतर मूल्यांकन उपकरण के समर्थन के लिए संसाधनों का विकास करना; शिक्षा एवं आगे बढ़ने के लिए संसाधनों का विकास; अनुसंधान एवं विकास प्रयासों के साथ समन्वय बनाना जो भविष्य में वेब की अभिगम्यता को प्रभावित कर सके। WAI का समर्थन यू एस के विकलांगता और पुनर्वास अनुसंधान पर राष्ट्रीय शिक्षा संस्थान (Education's National Institute on Disability and Rehabilitation Research (NIDRR)), यूरोपीय आयोग के सूचना सोसायटी प्रौद्योगिकी कार्यक्रम (European Commission's Information Society Technologies Programme), एचपी और आइबीएम करता है। अधिक जानकारी के लिए http://www.w3.org/WAI/देखें।

JTC 1 के विषय में

ISO (International Organization for Standardization) के संयुक्त तकनीकी समिति और IEC (International Electrotechnical Commission), ISO/IEC JTC 1,सूचना प्रौद्योगिकी, वह जगह है जहां नई प्रौद्योगिकियों के बुनियादी निर्माण ब्लॉकों परिभाषित होते हैं और जहां महत्वपूर्ण आईसीटी आधरभूत सुविधाओं की नींवकर रखी जाती है। 2,400 से अधिक मानकों और विश्व भर में 2,000 से अधिक राष्ट्रीय संस्थाओं के विशेषज्ञों द्वारा उससे संबंधित दस्तावेज़ों के विकास के साथ, ISO/IEC JTC 1 बाज़ार में नवीन समाधान और बेस्ट प्रैक्टिस लाएगा।

ISO के विषय में

ISO विश्व में अंतरराष्ट्रीय मानकों का सबसे बड़ा विकासक और प्रकाशक है। ISO जुलाई 2012 तक कुछ 164 देशों के राष्ट्रीय मानकों संस्थानों का एक नेटवर्क बन गया है। ISO के 100 से अधिक सदस्य विकासशील देशों से हैं। ISO के वर्तमान पोर्टफोलियो में 18600 से अधिक अंतरराष्ट्रीय मानकें हैं। ISO के कार्य पारंपरिक गतिविधियों, जैसे कृषि एवं निर्माण के मानकों से लेकर मैकेनिकल इंजीनियरिंग, निर्माण एवं वितरण, परिवहन, चिकित्सा उपकरण, पर्यावरण, सुरक्षा, सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी और अच्छे व्यवहार एवं सेवाओं तक है।

IEC के विषय में

IEC (International Electrotechnical Commission) विश्व की अग्रणी संस्था है जो सभी इलेक्ट्रिकल, इलेकट्रॉनिक और संबंधित तकनीकियों-जिसे सामूहिक रुप से 'इलेक्ट्रोटेक्नोलॉजी' कहते हैं - के अंतरराष्ट्रीय मानक बनाती एवं प्रकाशित करती है। IEC अंतरराष्ट्रीय मानक बिजली उत्पादन, संचरण और घरेलु एवं कार्यालय उपकरणों तक वितरण से लेकर सेमीकंडक्टर, फाइबर ऑप्टिक्स, बैटरी, नैनोटेक्नॉलोजी, सौर उर्जा और समूद्री उर्जा कन्वर्टर्स तक कवर करता है। जहाँ भी आपके बिजली और इलेक्ट्रॉनिक्स मिलेंगें वहां आप IEC की सुरक्षा और प्रदर्शन, पर्यावरण, विद्युत ऊर्जा क्षमता और नवीकरणीय ऊर्जा पाएंगे। IEC अनुरुपता मूल्यांकन व्यवस्था भी संभालता है जो यह सुनिश्चित करता है कि उपकरण, व्यवस्था अथवा घटक अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरुप हो। www.iec.ch

संपर्क करें

Ian Jacobs, <ij@w3.org>, +1.718.260.9447

Roger Frost <frost@iso.org>